Showing posts with label श्रद्धांजलि. Show all posts
Showing posts with label श्रद्धांजलि. Show all posts

Sunday, February 14, 2021

पुलवामा के शहीदों को विनम्र श्रद्धांजलि

              

              जिनके बलिदानों का नहीं है कोई जवाब,

              पुलवामा के उन वीरों के लिए हैं मेरे गुलाब।

आज 14 फरवरी   है। 2 साल  पहले  आज  ही  के दिन पाकिस्तान समर्थित  इस्लामी आतंकवादियों ने  पुलवामा में सीआरपीएफ के 40 जवानों को धोखे से आतंकी हमले में शहीद कर दिया था। पूरा देश ग़ुस्से और आक्रोश में उबल रहा था।  ख़ून  खोल  रहा था कि उस घटना के बाद  घटिया और गंदी राजनीति हो रही थी। हमारी भावनाओं और हमारे संयम पर एक के बाद एक चोट हो रही थी।  कुछ स्थानों पर उन युवाओं ने  इस  घटना पर जश्न मनाया था जिन्हें हम अपना मानते हैं।  बेतुके आरोप लगाए जा रहे थे। देश के दुश्मन हम पर हँस रहे थे।  ये ग़ुस्सा और आक्रोश उस दिन शांत हुआ था जब भारत ने पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया था। और सेंकड़ों आतंकियों को मार डाला था।   आज बेशक  युवा वैलंटाइंस डे मनाए लेकिन पुलवामा के शहीदों को अवश्य याद रखें। पुलवामा के शहीदों को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि। आपके सर्वोच्चत  बलिदानों को कोटि कोटि नमन।                                                                        

Humble tribute and respect for Pulwama martyrs.
पुलवामा के शहीदों के लिए।

                                             

                                         वीरों के बलिदानों की हम गाथा हरदम गायेंगे,                          
                                        आखों में पानी भर हम अपना शीश झुकाएँगे।                            
                                        धन्य हैं वे माता-पिता जिन्होंने तुमको जन्मा है,                            
                                        उनके ये उपकार तो हम कभी भूल नहीं पाएंगे।

  

                                  - वीरेंद्र सिंह